Trending

Haryana Violence: नूंह की शोभा यात्रा में क्या कर रहे थे हथियार, गोरक्षक बिट्टू बजरंगी ने दिया जवाब

Haryana Violence:-हरियाणा के नूंह में हुई हिंसा के बाद बहुत कुछ हुआ है। नासिर-जुनैद हत्याकांड के आरोपी और कथित गोरक्षक मोनू मानेसर के एक वीडियो को हिंसा के लिए जिम्मेदार ठहराया जा रहा है, जबकि पुलिस पर सवाल उठ रहे हैं कि तनावपूर्ण माहौल में भी यात्रा को इजाजत कैसे दी गई थी। पुलिस कहती है कि यात्रा के दौरान हथियार नहीं थे, लेकिन वीडियो में लोगों के हाथों में तलवारें और बंदूकें स्पष्ट हैं।

हिंसा में एक और व्यक्ति का नाम बिट्टू बजरंगी है। इस व्यक्ति ने खुद को गोरक्षक भी बताया है। इस बृजमंडल यात्रा में बिट्टू भी था। बिट्टू बजरंगी को हिंसा और हथियार लहराने पर चर्चा की। जिसमें उसने बताया कि यात्रा में पूजा के लिए तलवारें लाए गए थे।

यात्रा में शामिल थे बच्चे और महिलाएं

यात्रा में बच्चे और महिलाएं शामिल थे, जैसा कि हर साल की तरह बिट्टू बजरंगी ने बताया। यात्रा का उद्देश्य नूंह के नल्हड़ महादेव मंदिर था। इस यात्रा में सैकड़ों महिलाएं, बुजुर्ग और बच्चे शामिल थे। मंदिर में पूजा-पाठ और कीर्तन करने के बाद हमने वापस आते समय देखा कि आगे वाली गाड़ियों में आग लगी हुई थी।

मस्जिद से लोगों ने की फायरिंग- बिट्टू बजरंगी

इस हिंसा को लेकर बिट्टू बजरंगी मोनू मानेसर के कथित साथी बिट्टू बजरंगी ने कहा, “हमने देखा कि सड़क के किनारे एक छोटी मस्जिद में 200 से 250 लोग थे।” पूरी तरह से तैयार और हथियारों से लैस वे लोग थे। वहीं से वे गोलीबारी करने लगे। बिट्टू ने इस दौरान महिलाओं और बच्चों की चिंता व्यक्त की। तब हम वापस मंदिर गए। वही जगह हमें सुरक्षित लगी।

हथियारों को लेकर दिया जवाब

यात्रा के दौरान हथियार दिखाई देने वाले वीडियो में बिट्टू बजरंगी ने कहा कि कुछ लोग हथियार ले जा रहे थे, लेकिन सभी लाइसेंस वाले हथियार थे। हम भी पूजा के लिए तलवारें ले जाते हैं।

बिट्टू बजरंगी का एक वीडियो, जिसमें वह दूसरे समुदाय को चुनौती देता दिखता है, मोनू मानेसर के वीडियो के साथ वायरल हुआ था। इस दौरान बिट्टू को अभद्र भाषा भी बोलते देखा गया। इंटरव्यू के दौरान, उसने बताया कि उसने धमकी देने वालों का वीडियो बनाकर उनसे जवाब दिया।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button